शादी के बाद ससुराल में माहौल आपके मायके जैसा बिलकुल भी नहीं मिलेगा, ऐसे में पति के घर में सभी के साथ तालमेल बिठाना मुश्किल हो सकता है, लेकिन घबराने के बजाए कुछ खास बातों पर ध्यान दें.

शादी के बाद जब लड़की नए घर में जाती है, तो उसकी लाइफ 360 डिग्री चेंज हो सकती है. उसे अपने ससुराले के तौर तरीके सीखने होते, जिसमें दिक्कतें आ सकती है. इंसान के लिए कभीकभार चेंज पेनफुल हो सकता है, जैसे सुबह जल्दी उठना, सभी की जिम्मेदारी उठाना, घर को क्लीन रखना वगैरह.

कई कामकाजी महिलाओं के लिए वर्क-लाइफ बैलेंस करना मुश्किल होता है.इन सभी चीजों को मैनेज करने के दौरान नई दुल्हन को सास, नदद, देवर और ससुर के ताने सुनने पड़ सकते हैं, ऐसे में आप अपनी मेंटल हेल्थ का ख्याल कैसे रखें. हम आज यहां कुछ तरीके बताने जा रहे हैं जिसको अपनाकर आप खुश रह सकती हैं.

ससुराल में खुश रहने के तरीके

1. आप ससुराल के तौर-तरीके सीखने में खुद पहल करें, अगर कुछ अलग या नया करने जा रही हैं तो एक बार बड़ों की सलाह ले लें. इससे आपका तालमेल नए घर में बना रहेगा. हालांकि तमाम कोशिशों के बावजूद विचारों के मतभेद मुमकिन है, ऐसे में बीच का रास्ता निकालने की कोशिश करें. फिर भी काम न बने तो पति से बातचीत के बाद कोई हल निकालें.

2. आपके और सास-ननद के बीच चाहे कितना भी विवाद हो, लेकिन आपके पति के साथ मधुर रिश्ता बनाए रखें. सास-ननद की गलती के इल्जाम पति पर न लगाएं, क्योंकि जिस लाइफ पार्टनर को आप अपना हमदर्द समझती हैं, वही आपके खिलाफ हो जाए. जब आप पति के साथ बैठें तो सभी विवादों को भूलकर रोमांटिक बातें करें.

3. अपने ससुराल की शिकायत अपने मायके वालों से न करें, क्योंकि इससे आप पर चुगली करने का इल्जाम लगेगा और आप घर की भेदी कहलाएंगी, बेहतर कि ससुराल की बात को वहीं सुलझाने की कोशिश करें. हालांकि अगर आपके साथ डोमेस्टिक वॉयलेंस या किसी तरह का जुल्म हो रहा है तो ही कोई सख्त कदम उठाएं.

4. कई बार आपके ससुराल वाले आपकी या आपके मायके वालों की बुराई करते हैं, ऐसे में रिस्पॉन्ड करने के बजाए इग्नोर करने की कोशिश करें, क्योंकि अगर आप गुस्सा करेंगी तो बेवजह आपको ही विलेन साबित कर दिया जाएगा.

5. खुश रहने के लिए आप मेडिटेशन का सहारा ले सकती है, क्योंकि आप क्रिटिसाइज करने वालों का मुंह बंद नहीं कर सकतीं, बेहतर है कि खुद को इतना मैच्योर बनाएं कि ऐसी बातों से आपको कोई फर्क न पड़े.