भारतीय क्रिकेट टीम के बेहतरीन गेंदबाज आशीष नेहरा के खेल के बारे में तो सभी जानते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि इस खिलाड़ी ने 15 मिनट में अपनी शादी प्लान की और एक हफ्ते में शादी कर ली! अरे और भी बहुत कुछ हैं ‘नेहरा जी’ की इस फिल्मी लव स्टोरी में।

वैसे तो सभी भारतीय खिलाड़ी अव्वल दर्जे के हैं, लेकिन जब तेज गेंदबाजों का जिक्र आता हैं, तो भारत के पूर्व गेंदबाज आशीष नेहरा का नाम सबसे पहले लिया जाता है। जितने तेज इनके हाथ बॉलिंग में चलते हैं, उतने ही स्पीड में इन्होंने अपनी शादी भी प्लान कर ली थी।

नेहरा जी और उनकी वाइफ रुश्मा की क्या इंटरेस्टिंग लव स्टोरी है न! पहली नजर में प्यार और फिर 15 मिनट में शादी का प्लान, भला ऐसा कहीं होता है? लेकिन ये सच है। आशिष और रुश्मा की लव स्टोरी बहुत ही फिल्मी है लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि आपको भी जिस लड़की या लड़के से प्यार हो जाए, कल उसी से शादी कर लें। ऐसा हर बार जरूरी नहीं है कि आपका पहली नजर वाला प्यार जीवन भर साथ निभाने के योग्य हो। इसलिए शादी करने से पहले अपने पार्टनर से जुड़ी इन कुछ बातों का ध्यान दें।

इंग्लैंड से शुरू हुई लव स्टोरी

इंग्लैंड से शुरू हुई आशीष नेहरा की लव स्टोरी बहुत ही ज्यादा इंटरेस्टिंग है। नेहरा हाल में गुजरात टाइटंस के बॉलिंग कोच हैं। दरअसल आशीष नेहरा की लव स्टोरी 2002 में इंग्लैंड के ओवल ग्राउंड में शुरू हुई थी, जहां उनकी अपनी बीवी रुश्मा से पहली मुलाकात हुई थी।

जिसके बाद बातचीत का सिलसिला शुरू हो गया। जब पहली बार दोनों ने एक दूसरे को देखा था तो नेहरा को उनसे पहली नजर में प्यार हो गया था। ये हम नहीं कह रहे हैं, खुद आशीष नेहरा ने एक इंटरव्यू के दौरान ये बातें शेर की थी।पहला पर्पोजल लगा मजाक

आशीष ने ये भी बताया कि जब उन्होंने 7 साल की डेटिंग के बाद रुश्मा को पहली बार प्रपोज किया तो मिसेज नेहरा ने इसे उस समय मजाक समझा और टाल दिया था, लेकिन अगले दिन जब फिर से नेहरा ने अपना प्रपोजल रखा तो रुश्मा को सब कुछ सीरियस लगा और उन्होंने इसे एक्सेप्ट कर लिया।

15 मिनट में प्लानिंग और एक हफ्ते में शादी

आपको सुनकर थोड़ा अजीब लगेगा, लेकिन ये सच है कि नेहरा ने 15 मिनट में शादी करने का प्लान बनाया था। दरअसल आशीष ने ही एक इंटरव्यू में ये बात बताई कि उन्होंने 23 मार्च 2009 में शादी करने का प्लान बनाया और घर पर बात भी कर ली। इसके बाद रुश्मा अपनी मां के साथ दिल्ली पहुंची और 2 अप्रैल 2009 को दोनों सात फेरे लेकर शादी के बंधन में बंध गए।

लव स्टोरी हो सकती है फेल

आशीष और रुश्मा की लव स्टोरी पूरी होने का कारण इनका 7 साल तक एक-दूसरे को डेट करना है। लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है कि आपको पहली नजर में जिससे प्यार हो रहा है, या जिसके साथ आप 6-7 सालों से रिलेशनशिप में हैं, उसके साथ शादी करने का आपका फैसला सही ही हो।

कभी-कभी मजबूरी के कारण भी रिश्ते चलते हैं। रिलेशनशिप में रहने और शादी के बाद 24 घंटे साथ रहने में फर्क होता है। इसलिए पहले अपनी लव स्टोरी और पार्टनर के साथ अपने रिश्ते को समझें, फिर उसके बाद ही शादी का डिसीजन लें।

आप कब हैं शादी के लिए तैयार

जिस तरह नेहरा और रुश्मा के बीच अंडरस्टैंडिंग और सपोर्ट देखने को मिलता है, ये उनके मजबूत रिश्ते की निशानी है। लेकिन अगर आप अपने रिलेशन को शादी में बदलने की सोच रहे हैं तो अपने होने वाले लाइफ पार्टनर की इन कुछ बातों पर ध्यान दें। जैसे- वो आपके लिए इमोशनली अवेलेबल है या नहीं, क्या वो शादी के बाद की जिम्मेदारी उठाने के लिए तैयार है? आदि। जब आपके मन के सारे डाउट क्लियर हो जाएं तो समझ लीजिए आप सही पार्टनर के साथ हैं।