कोई इंसान जब अपने पार्टनर के अलावा किसी अन्य शख्स के करीब आने लगता है और उसे अपने रूटीन की बातें शेयर करने लगता है तो इसे रिलेशनशिप में माइक्रो चीटिंग कहते हैं। चाहे एक रिश्ते में रहते हुए किसी और से इमोशनल अटैचमेंट हो या फिर अपना रिलेशनशिप स्टेटस बताए बिना किसी अन्य शख्स से फ्लर्ट करने की आदत। ये सबकुछ माइक्रो चीटिंग के अंदर ही आता है।

लाइफस्टाइल डेस्क, नई दिल्ली। Micro Cheating: माइक्रो चीटिंग करने वाले शख्स की अक्ल पर पत्थर पड़ना आम बात है। ऐसे में भले ही उसे खुद इस बात का अंदाजा न हो, कि वह क्या कर रहा है, लेकिन किसी रिलेशनशिप में ‘माइक्रो चीटिंग’ कर रहे पार्टनर का बर्ताव इस बात की गवाही देने के लिए काफी होता है, कि वह किस राह पर निकल पड़ा है।

अगर आपको भी अपने ब्वॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड के पहले और अब के नेचर में कुछ फर्क नजर आ रहा है, तो सावधान हो जाने की जरूरत है। आइए आपको बताते हैं कुछ ऐसे संकेत जिनकी मदद से आप इस बात को जान सकते हैं कि कहीं आपका पार्टनर तो आपको माइक्रो चीटिंग का शिकार नहीं बना चुका है।

एक्स को स्टॉक करना

अगर आपका पार्टनर भी रिलेशनशिप में रहते हुए अपने एक्स को स्टॉक कर रहा है, तो समझ जाएं कि यही माइक्रो चीटिंग का एक लक्षण है। बता दें, कि ऐसे में आप पाएंगे कि आपका पार्टनर एक्स की फोटोज पर कमेंट कर रहा है या उसे किसी भी बहाने से कॉल करने की कोशिश करता है या फिर एक्स की बातें करके इमोशनल हो जाता है, तो यह सब माइक्रो चीटिंग के फेज में ही आता है।

डेटिंग ऐप पर प्रोफाइल

रिलेशनशिप में होते हुए डेटिंग ऐप पर आपके पार्टनर की मौजूदगी है, तो इसे हल्के में न लें। बता दें, कि वे लाख सफाई दें, लेकिन ये बात पक्की है कि आप कहीं न कहीं माइक्रो चीटिंग के दौर से गुजर रहे हैं। ऐसे में, यह जान लें कि आपको दी गई कमिटमेंट उनके लिए बिल्कुल मायने नहीं रखती है और वे अब इस रिश्ते से बोर हो चुके हैं।

बातें छिपाना

आपका पार्टनर जिन छोटी-छोटी रोजमर्रा की बातों को आपसे शेयर किया करते थे, वह अब इसे छिपाने लगे हैं या बातों को लिमिट में कर दिया है, तो ये भी माइक्रो चीटिंग की ओर ही इशारा करता है। बता दें, कि ऐसे में जब पार्टनर की बातें आपको उनके दोस्तों या संपर्क में रहने वाले लोगों से जानने को मिलती हैं, तो दिल को काफी ठेस पहुंचती है।

बहस करना

लड़ाई-झगड़े किसी भी रिलेशनशिप में काफी आम होते हैं, लेकिन अगर आपको इस बात का अहसास होने लगे कि बहस अब ज्यादा बढ़ाने लगी है और आपके पार्टनर का मकसद आपको गलत साबित करना ही है, तो यह जान लें कि आप माइक्रो चीटिंग का शिकार हो चुके हैं और अब सिर्फ आपकी कोशिशों से यह रिश्ता ज्यादा लंबा चलने वाला नहीं है।

चैट या कॉल पर बिजी

आपका पार्टनर भी अगर दिनभर चैट और कॉल में बिजी रहता है, लेकिन जब आप उनसे पूछते हैं कि कहां थे, तो वे कोई न कोई बहाना बना देते हैं, तो ऐसे में आप जान लें कि उन्हें अब आपके अंदर कोई दिलचस्पी नहीं बची है और काफी हद मुमकिन है कि वे कमिटेड होने के साथ-साथ आपको माइक्रो चीट कर रहा हो।