किसी भी इंसान के लिए परिवार एक ऐसे छत की तरह होता है, जहां वह सुकून महसूस करता है. जब परिवार के सदस्‍यों के बीच बॉन्डिंग नहीं होती तो यह किसी भी हंसती-खेलती फैमिली के टूटने की वजह बन जाता है. यहां हम बता रहे हैं कि आप अपने परिवार के बीच बेहतर संबंध बनाए रखने के लिए किन हालातों से बचें और किसी भी परिवार में झगड़े की सबसे बड़ी वजह क्‍या होती है.

अगर परिवार में माता-पिता के बीच लगातार झगड़ता होता रहता है तो इसका असर परिवार के अन्‍य सदस्‍यों पर भी पड़ता है और घर का माहौल हर वक्‍त तनाव से भरा रहता है. ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि अपका परिवार मजबूत रहे तो आपसी मतभेद को शांतिपूर्ण तरीके से निपटाने का प्रयास करें.

बेटरहेल्‍प के मुताबिक, कई घरों की ये समस्‍या होती है कि उनका फैमिली इनकम उतना नहीं होता जिससा वे परिवार के हर सदस्‍यों की बुनियादी जरूरतों को पूरा कर सकें. ऐसे हालात में परिवार को मतभेद और झगड़े की संभावना बन जाती है. ऐसे में अगर किसी की नौकरी चली जाए, कोई काम करने में असमर्थ हो जाए, बुरी लत लग जाए, ऐसे मे बिल आदि भरते वक्‍त तनाव और संघर्ष बढ जाता है. ऐसे हालात से बचने का प्रयास करें और प्‍लानिंग के साथ जीवन जियें.

अगर परिवार के एक या अधिक सदस्य किसी बीमारी से जूझ रहा हो ऐसे में उनकी मानसिक स्थिति तनावपूर्ण हो सकती है, ऐसे में परिवार के अन्‍य सदस्‍यों के लिए भी यह मानसिक परेशानी की वजह बन सकता है.

ऐसे में तनाव और चिंता होना स्‍वाभाविक है, तनाव के बावजूद देखभाल करना या इलाज कराना कई कभी झगड़े का कारण बन सकता है. इसलिए बेहतर होगा कि आप आप भी ऐसे हालात से गुजर रहे हैं तो पेशेंस रखें और अपने साथ साथ दूसरे की भी मानसिक दशा को समझने का प्रयास करें.

अगर एक के बाद एक करते हुए कई बार परिवार बुरे हालातों से गुजरने लगता है और एक साथ मिले कई सारे आघातों की वजह से परिवार में मानसिक तनाव पैदा होने लगता है तो यह कई बार आपसी झंझट और झगड़े की वजह बन सकता है. ऐसे आघातों में अगर परिवार को एक दूसरे का हर का समर्थन मिले तो यह भी परिवार को झगड़े से बचा सकता है और तोड़ने से रोक सकता है.

ऐसे में जरूरी है कि परिवार का हर सदस्‍य एक दूसरे के प्रति संवेदनशील रहे. इस तरह नकारात्‍मक एनर्जी को घर में प्रवेश से रोका जा सकता है और बुरे वक्‍त में भी परिवार को मजबूत बने रहने में मदद मिलती है.

परिवार के सभी सदस्‍य जब हर वक्‍त एक साथ रहते हैं तो यह भी कई बार झगड़े की वजह बन जाता है. ऐसे हालात कोरोना महामारी के दौरान कई घरों में देखने को भी मिली थी. दरअसल, जब परिवार के सदस्‍य दूर दूर रहते हैं तो उनके पास साथ वक्‍त गुजारना क्‍वालिटी टाइम की तरह होता है जिसकी यादें हमेशा अच्‍छी रहती है. हालांकि दूर रहते हुए भी एक दूसरे के लिए ईमानदार रहना, बातचीत करते रहना भी रिश्‍ते को मजबूत बनाने का काम करता है.