इशारों में हुई दोनों की बातों से एक दूजे को पसंद करने लगे. इशारों में पूछा, कि आप कहां रहते हो तो उसने बोला मैं गंगलाव तालाब निवार घरों के मोहल्ले में रहता हूं. इसके बाद लड़के ने अपने पिता को बताया, कि मैंने लड़की को पसंद किया है.

देशभर में इस वक्त फरवरी माह यानि की वेलेंटाइन का समय चल रहा है ऐसे में बात करे तो जोधपुर में एक ऐसी अनूठी प्रेम कहानी देखने को मिली जो कही न कही वेलेंटाइन वीक के दौरान जोधपुर के इस अनोखे जोड़े की कहानी उन सभी प्रेमी युगलों को प्रेरित करेगी जो प्यार में है या प्यार में यकीन करते है.

इस प्रेम कहानी में निवार घरों का मोहल्ला निवासी मोहम्मद याकूब ने जब पहली बार प्रताप नगर की मुस्कान बानो को देखा तो देखता ही रह गया. दोनो के इस प्रेम में ना तो शब्द थे ना ही आवाज, क्योंकि मोहम्मद याकूब और मुस्कान बानो दोनो ही ना सुन सकते है ना ही बोल सकते है. मगर जब दोनों एक दूसरे की आंखो में प्यार देखा तो शब्दों की सीढियों पर चढे बिना अपनी मंजिल को हासिल कर लिया.

रऊफ शेख ने बताया, आडा बाजार मोचियों की घाटी निवार घरों के मोहल्ले में ये अनोखी शादी हुई. जिसमें लड़का और लड़की दोनों सुन व बोल नहीं सकते. जिसमें दूल्हा मोहम्मद याकूब गंगलाव तालाब निवार घरों के मोहल्ले का रहवासी है.

वहीं लड़की प्रताप नगर काली टंकी के पास रहती है. लड़की का नाम मुस्कान बानो है हाल ही में 4 महीने पहले एक दूजे से हुई मुलाकात के दौरान इशारों इशारों में दोनों ने बातें की. लड़की ने भी इशारों में कहा, कि मैं सुन व बोल नहीं पाती. इसपर लड़के ने भी इशारों में अपनी स्थिति भी बयां कर दी.

इशारों में हुई दोनों की बातों से एक दूजे को पसंद करने लगे. इशारों में पूछा, कि आप कहां रहते हो तो उसने बोला मैं गंगलाव तालाब निवार घरों के मोहल्ले में रहता हूं. इसके बाद लड़के ने अपने पिता को बताया, कि मैंने लड़की को पसंद किया है. इसपर पिता तुरंत लड़की के घर वालों से बात की और वो शादी के लिए राजी हो गए. इसके साथ ही बुधवार को एक दूसरे से निकाह कुबुल कर हमेशा के लिए एक दूसरे के हम सफर बन गए.