सुबह उठे, चाय की प्याली हाथ में, लेकिन गुड मॉर्निंग के बाद बातचीत करने के लिए कोई टॉपिक ही नहीं… कई मैरिड कपल्स ऐसी जिंदगी सालों से जी रहे हैं और अकेलेपन का शिकार हो रहे हैं. अगर आप अपने बीच के कम्युनिकेशन को सुधारना चाहते हैं तो कुछ बातों को ध्‍यान में रखकर आपस में बातचीत बढ़ा सकते हैं.

अक्‍सर कपल्‍स ये शिकायत करते हैं कि कई बार किसी टॉपिक पर बातचीत शुरू करते ही सामने वाला अपनी बात चलाने लगता है. ऐसे में कुछ बताने का मन ही नहीं करता. बेहतर रिलेशन के लिए सबसे जरूरी है कि आप पहले अच्‍छे श्रोता बनने की कोशिश करें. अगर पार्टनर कुछ बताना चाहता है तो उसे यह महसूस कराएं कि आप उनकी बातों को सुनने और समझने में इंटरेस्ट ले रहे हैं.

पति पत्‍नी के बीच हर तरह की बातें होती हैं, कई बार कुछ ऐसी बातें होती हैं जिसकी वजह से गहमागहमी का माहौल बन सकता है और आप डिफेंसिव मोड में आने की कोशिश करने लगते हैं. लेकिन रुकिए, गहरी सांस लीजिए और ब्‍लेम गेम से बाहर आकर पार्टनर की परेशानी को समझने का प्रयास कीजिए. इस तरह ओपन माइंड के साथ बातों को सुनना फायदेमंद होता है.

अगर आपका पार्टनर किसी बात को लेकर आहत है या किसी परेशानी का सामना कर रहा है या खुश है तो हो सकता है कि वह आपको अपनी हर बात बताना चाहता हो. ऐसा होने पर आप उसकी इमोशन को वैलिडेट कर सकते हैं. मसलन, ‘तुम्‍हें तो बहुत परेशानी हुई होगी, सुन कर ऐसा लग रहा है कि तुमने कितनी मुश्किल हालात को झेला है आदि.

अपनी जरूरतों पर पार्टनर के साथ बातचीत शुरू कर सकते हैं. आप अगर कुछ चाहते हैं तो अपने पार्टनर से इस विषय पर बातचीत कर सकते हैं और उसका ओपिनियन जानने के लिए सवाल कर सकते हैं. यही नहीं, आप उनकी जरूरतों पर भी चर्चा कर सकते हैं. लेकिन यह चर्चा इस तरह करें कि पार्टनर डिफेंसिव मोड में ना आ जाए.

बातचीत के दौरान अपने बॉडी लैंग्‍वेज का ध्‍यान रखें और अपनी भाषा में मधुरता बनाए रखें. कई बार हम भावनाओं में बह जाते हैं और पार्टनर के साथ बातचीत के दौरान हमारा बर्ताव निगेटिव हो जाता है. इस बात का हमेशा ध्‍यान रखें कि आपके बीच पॉजिटिव वाइब्स रहें, ना कि नेगेटिव.

अपने पार्टनर को इमोशन एक्‍सप्रेस करने के लिए टाइम दें. याद रखें हर इंसान अपने इमोशन को सही तरीके से एक्‍सप्रेस नहीं कर पाता. इसलिए थोड़ा धैर्य बरतें और उसे अपने मन की हर बात को खुलकर बोलने का मौका दें. जब आपके बीच इस तरह की बातचीत होगी तो धीरे धीरे आपके बीच की दूरियां कम होंगी और आप दोनों स्‍ट्रेस फ्री होकर आपस में बातचीत कर पाएंगे.